गुजरातताजा खबरदेशन्यूज़बड़ी खबरराजनीति

गुजरात हिंसा: खौफ बना उत्तर भारतीयों का मुकद्दर,शेल्टर हाउस में हुए मेह्फूस

साबरकांठा में 28 सितंबर को 14 महीने की बच्ची के बलात्कार का मामला सामने आया. इस मामले में बिहार के एक मजदूर को गिरफ्तार किया गया. घटना के बाद से उत्तर भारतीयों के खिलाफ नफरत वाले मैसेज वायरल होने लगे. इसके बाद उत्तर भारतीयों पर हमले शुरू हो गए. गुजरात में उत्तर भारतीयों हमलों के बाद लोगों की मुश्कलें कम होने का नाम नहीं ले रही हैं. हिंसा के डर से कुछ लोग पलायन करने को मजबूर हैं तो वहीं कुछ के लिए महफूजय ठिकाना भी एक बड़ी समस्या बन गया है.

Image result for GUJARAT HINSA PICS

राज्य सरकार सुरक्षा और कार्रवाई का भरोसा दे रही है लेकिन लोगों में डर का माहौल बना हुआ है.सर्वे के मुताबिक अहमदाबाद के एक गांव में सामाजिक संस्था उत्तर भारतीय विकास परिषद ने असुरक्षित प्रवासियों के लिए ‘गुप्त’ सुरक्षित ठिकाने बनाए हैं. इन ठिकानों में उत्तर प्रदेश, बिहार और मध्यप्रदेश से आए लोगों ने शरण ले रही है.

Image result for RAJASTHAN HINSA

उत्तर भारतीय विकास परिषद के अध्यक्ष श्याम ठाकुर ने कहा, ”जब तक स्थिति नियंत्रण में नहीं आ जाती इन लोगों के लिए अस्थायी व्यवस्था की गई है. हम इन लोकेशन का पता नहीं लगने दे सकते. काफी मेहनत के बाद हमने इन जगहों को चुना है.”शेल्टर हाउस में रुके उत्तर भारतीय राजधानी गांधीनगर में एक स्नैक्स फैक्ट्री में काम करते थे. शनिवार शाम को फैक्ट्री में भीड़ घुसी और उन्हें गुजरात छोड़ जाने की धमकी दी और मारपीट की. कानपुर के रहने वाले एक युवक ने बताया कि हम लोग यूपी से थे इसलिए हम पर हमला किया गया

 

Image result for RAJASTHAN PEOPLE SEAT IN SHELTER HOUSE.

शेल्टर हाउस में उत्तर प्रदेश के 18-28 साल के युवाओं का समूह भी आया. उत्तर भारतीय विकास परिषद के सदस्य दीपक दुबे ने बताया, ”ये इन लोगों के लिए सुरक्षित जगह है. यह गांव वातवा विधानसभा में आता है जो गृह मंत्री प्रदीप सिंह जाडेजा का क्षेत्र है, इसलिए यहां कानून व्यवस्था की कोई समस्या नहीं है. इसके साथ ही यहां के लोग शिक्षित हैं और स्थानीय लोगों, पुलिस और परिषद के सदस्य आपस में बैठक करते रहे हैं.’

Related image

उत्तर भारतीय विकास परिषद का गठन साल 2016 में हुआ था. यह संस्था एक ट्रस्ट चलाती है. इस ट्रस्ट में यूपी, बिहार, झारखंड, मध्यप्रदेश और हरियाणा के लोग शामिल हैं. इस समय इसके 32,000 से ज्यादा सदस्य हैं, जो अलग अलग राजनीतिक पार्टियों से जुड़े हुए हैं.

THE SUNDAY HEADLINES )ख़बरों से अपडेट रहने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं

आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर & LinkedIn पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं)

THE SUNDAY HEADLINES

Show More
Share On Whatsapp

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Social Media Auto Publish Powered By : XYZScripts.com
Close