Breaking NewsPopularTSH Specialकर्नाटकजॉब्स/करियरताजा खबरदेशन्यूज़बड़ी खबरबिजनेसब्लॉगराजनीतिराज्‍य

कुमारस्वामी का संकट, कांग्रेस के सभी मंत्रियों ने दिया इस्तीफा

कर्नाटक में एक बार फिर सियासी नाटक ने जोर पकड़ा है. कांग्रेस और जेडीएस के कुल 13 विधायकों के इस्तीफे के बाद एचडी कुमारस्वामी की सरकार संकट में है. इसके अलावा निर्दलीय विधायक ने भी सरकार से समर्थन वापस ले लिया है. भारतीय जनता पार्टी एक बार फिर राज्य में सरकार बनाने को लेकर एक्टिव होती दिख रही है. जिन विधायकों ने इस्तीफा दिया है, वह अभी मुंबई में हैं.

कर्नाटक, कर्नाटक विधानसभा चुनाव में सबसे कम सीट जीतने के बावजूद जनता दल सेकुलर को सत्ता मिली और कांग्रेस के समर्थन से एचडी कुमारस्वामी मुख्यमंत्री बन गए. लेकिन मई 2018 में सत्ता की कमान मिलने से अब तक उनका सफर बेहद चुनौतियों भरा रहा है और अब हालात ये आ पहुंचे हैं कि उनकी सरकार गिरने की कगार पर खड़ी है. कांग्रेस के 10 और जेडीएस के 3 विधायक इस्तीफा दे चुके हैं, जबकि एक निर्दलीय ने सरकार से समर्थन वापस लेते हुए बीजेपी के समर्थन का ऐलान कर दिया है. इस पूरे सियासी घटनाक्रम के बाद विधानसभा के समीकरण ऐसे हो गए हैं कि भारतीय जनता पार्टी बहुमत की स्थिति में नजर आ रही है.

कर्नाटक विधानसभा में कुल 225 सदस्य होते हैं, इनमें एक सदस्य मनोनीत होता है. मई 2018 में पहले 222 विधानसभा सीटों के लिए चुनाव हुए और बाकी 2 सीटों पर बाद में चुनाव हुए. सभी चुनाव नतीजों के बाद बीजेपी के विधायकों की कुल संख्या 105 हो गई, जबकि एक निर्दलीय के शामिल होने के बाद कांग्रेस 80 पर आ गई (इसमें विधानसभा स्पीकर भी शामिल है) और जेडीएस की संख्या 37 रही. वहीं, एक निर्दलीय और एक बीएसपी विधायक ने गठबंधन सरकार को समर्थन दिया. इस तरह कांग्रेस-जेडीएस गठबंधन सरकार 118 विधायकों (कांग्रेस-79, जेडीएस-37, निर्दलीय-1, बीएसपी-1) के समर्थन से चल रही थी. अब इस एक निर्दलीय विधायक नागेश ने भी कुमारस्वामी सरकार से समर्थन वापस ले लिया. जबकि बीएसपी विधायक का समर्थन जारी है.

इस्तीफों के बाद बने ये समीकरण

अब तक कांग्रेस के 10 और जेडीएस के 3 विधायकों ने इस्तीफा दे दिया है. इन 13 विधायकों के इस्तीफों के बाद विधानसभा की संख्या 224 से घटकर 211 रह जाएगी. इनमें एक सीट स्पीकर की है. यानी अगर इन सभी विधायकों के इस्तीफे स्वीकार होते हैं तो बहुमत का हिसाब 210 सीटों पर लगाया जाएगा और किसी भी पार्टी को सरकार में रहने के लिए 106 विधायकों के समर्थन की जरूरत होगी.

इस्तीफे स्वीकार होने की स्थिति में मौजूदा समीकरण देखे जाएं तो कांग्रेस और जेडीएस गठबंधन के पास 105 विधायक रह जाएंगे. जबकि बीजेपी के पास पहले से ही 105 विधायक हैं. अब कुमारस्वामी सरकार से समर्थन वापस लेने वाले निर्दलीय विधायक नागेश ने भी बीजेपी को सपोर्ट का ऐलान कर दिया है. इस तरह बीजेपी की संख्या 106 हो जाएगी, जो मौजूदा स्थिति में बहुमत का आंकड़ा है. इस तरह अगर कांग्रेस-जेडीएस विधायकों के इस्तीफे स्वीकार होते हैं तो बीजेपी सरकार बनाने की स्थिति में आ जाएगी.

“द संडे हेडलाइंस” के यहां क्लिक कर सकते हैं आप हमें फ़ेसबुकट्विटरइंस्टाग्राम और यूट्यूब पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं ) 

Show More
Share On Whatsapp

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Social Media Auto Publish Powered By : XYZScripts.com
Close