Breaking Newsओपिनियनताजा खबरदेशन्यूज़बड़ी खबर

नवरात्रि में व्रत-उपवास और पूजा के नियम, 9 दिनों तक इन बातों का रखें ध्यान

आज से नवरात्रि शुरू हो गई है। इन 9 दिनों में मां की पूजा, व्रत और उपवास किए जाएंगे, लेकिन आपको इस दौरान कुछ जरुरी बातों का ध्यान रखना चाहिए। मार्कंडेय और देवी पुराण के अनुसार देवी पूजा और व्रत-उपवास नियम के अनुसार ही करने चाहिए वरना इनका फल नहीं मिल पाता है। पुराणों के अनुसार इन नौ दिनों में पूरे संयम से रहना चाहिए और इंद्रियों पर नियंत्रण रखना चाहिए। ऐसा करने से आध्यात्मिक और शारीरिक शक्ति तो बढ़ती ही है मां दुर्गा भी प्रसन्न होती हैं।

Related image

नवरात्र पर देवी पूजन और नौ दिन के व्रत का बहुत महत्व है. नवरात्र के नौ दिनों में मां के अलग-अलग रुपों की पूजा को शक्ति की पूजा के रुप में भी देखा जाता है.साल में चार नवरात्र होते हैं, जिनमें से दो गुप्त नवरात्र होते हैं. लेकिन चैत्र और आश्विन माह के नवरात्र ही ज्यादा लोकप्रिय हैं. आश्विन नवरात्र को महानवरात्र कहा जाता है. इसका एक कारण यह भी है कि ये नवरात्र दशहरे से ठीक पहले पड़ते हैं.

Image result for navratri 2018
आइए जानते हैं इस बार नवरात्र कब से शुरू हो रहे हैं और किस दिन किस देवी की आराधना करनी है:

आश्विन (शारदीय) महानवरात्र 10 से 19 अक्तूबर तक रहेगा.

18 अक्टूबर को अंतिम नवरात्रि होगी,नवरात्रि में मां दुर्गा के नौ स्वरूपों की उपासना की तारीखें-

10 अक्टूबर,प्रतिपदा – बैठकी या नवरात्रि का पहला दिन- घट/ कलश स्थापना – शैलपुत्री, ब्रह्मचारिणी पूजा,
11अक्टूबर, द्वितीया – नवरात्रि का दूसरा दिन तृतीय- चंद्रघंटा पूजा,
12 अक्टूबर, तृतीया – नवरात्रि का तीसरा दिन- कुष्मांडा पूजा,
13 अक्टूबर, चतुर्थी – नवरात्रि का चौथा दिन- स्कंदमाता पूजा,
14 अक्टूबर, पंचमी – नवरात्रि का 5वां दिन- सरस्वती पूजा,
15 अक्टूबर, षष्ठी – नवरात्रि का छठां दिन- कात्यायनी पूजा.

16 अक्टूबर, सप्तमी – नवरात्रि का सातवा दिन- कालरात्रि- पूजा.
17 अक्टूबर,अष्टमी – नवरात्रि का आठवा दिन – महागौरी- पूजा
18 अक्टूबर ,नवमी -नवरात्री का नोवा दिन -सिद्धिदात्री-पूजा

 

Related image

जानिए कैसे करें पूजा और इन खास बातों का रखे ध्यान –

1 – नवरात्रि के पहले दिन 9 दिनों के व्रत और उपवास का संकल्प लें। इसके लिए सीधे हाथ में जल लेकर उसमें चावल, फूल, एक सुपारी और सिक्का रखें। हो सके तो किसी ब्राह्मण को इसके लिए बुलाएं। ऐसा न हो सके तो अपनी कामना पूर्ति के लिए मन में ही संकल्प लें और माता जी के चरणों में वो जल छोड़ दें।

Image result for navratri 2018

2 – इन दिनों व्रत-उपवास में सुबह जल्दी उठकर नहाएं और घर की सफाई करें। पूरे घर में गौमूत्र और गंगाजल का छिड़काव करें। उसके बाद माता जी की पूजा करें। पूजा में ताजा पानी और दूध से माता जी को स्नान करवाएं। फिर कुमकुम, चंदन, अक्षत, फूल और अन्य सुगंधित चीजों से पूजा करें और मिठाई का भोग लगाकर आरती करें। नवरात्रि के पहले ही दिन घी या तेल का दीपक लगाएं। ध्यान रखें वो दीपक नौ दिनों तक बुझ न पाएं।

Related image

3 – व्रत-उपवास में माता जी की पूजा करने के बाद ही फलाहार करें। यानि सुबह माता जी की पूजा के बाद दूध और कोई फल ले सकते हैं। नमक नहीं खाना चाहिए। उसके बाद दिनभर मन ही मन माता जी का ध्यान करते रहें। शाम को फिर से माता जी की पूजा और आरती करें। इसके बाद एक बार और फलाहार (फल खाना) कर सकते हैं। अगर न कर सके तो शाम की पूजा के बाद एक बार भोजन कर सकते हैं।

Image result for navratri 2018

4 – माता जी की पूजा के बाद रोज 1 कन्या की पूजा करें और भोजन करवाकर उसे दक्षिणा दें।

Image result for navratri 2018

5 – नवरात्रि के दौरान तामसिक भोजन नहीं करें। यानि इन 9 दिनों में लहसुन, प्याज, मांसाहार, ठंडा और झूठा भोजन नहीं करना चाहिए।

Image result for navratri 2018

6 – इन दिनों में क्षौरकर्म न करें। यानि बाल और नाखून न कटवाएं और शेव भी न बनावाएं। इनके साथ ही तेल मालिश भी न करें। नवरात्रि के दौरान दिन में नहीं सोएं।

Related image

7 – नवरात्रि में सूर्योदय से पहले उठें और नहा लें। शांत रहने की कोशिश करें। झूठ न बोलें और गुस्सा करने से भी बचें। इसके साथ ही मन में किसी के लिए गलत भावनाएं न आने दें। अपनी इंद्रियों का काबु रखें और मन में कामवासना जैसे गलत विचारों को न आने दें।

Image result for navratri mata pics

8 – नवरात्रि के व्रत-उपवास बीमार, बच्चों और बूढ़ों को नहीं करना चाहिए। क्योंकि इनसे नियम पालन नहीं हो पाते हैं।

THE SUNDAY HEADLINES )ख़बरों से अपडेट रहने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं

आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर & LinkedIn पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं)

THE SUNDAY HEADLINES

Show More
Share On Whatsapp

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Social Media Auto Publish Powered By : XYZScripts.com
Close