क्राइमझारखंडताजा खबरदेशन्यूज़बड़ी खबरराजनीतिराजनीतिक किस्सेराज्‍य

LIVE:विपक्ष ने किया आज झारखंड बंद , नहीं चल रहे ऑटो और बस

भूमि अधिग्रहण संशोधन बिल के खिलाफ विपक्ष ने गुरुवार को झारखंड बंद का ऐलान किया है. इसके समर्थन में पूर्व संध्या पर बुधवार को विपक्ष ने राज्यभर में मशाल जुलूस निकाला और लोगों से बंद में साथ देने की अपील की. वहीं बंद को लेकर प्रशासन ने भी कमर कस ली है. राज्य के विभिन्न हिस्सों से विपक्षी दलों के कई नेताओं को गिरफ्तार किया गया है. गृह सचिव व डीजीपी ने संयुक्त प्रेस कांफ्रेंस में कहा कि बंद के दौरान हिंसा या तोड़फोड़ हुई तो मामले का स्पीडी ट्रायल कराया जाएगा.
झारखंड बंद बरकट्ठा में असरदार रहा. बंद समर्थकों ने बरकट्ठा प्रखंड मुख्यालय के सामने एकत्रित होकर घंटों जीटी रोड जाम कर दिया. बरकट्ठा में बंदी का नेतृत्व झाविमो जिला अध्यक्ष सुशील कुमार पांडेय कर रहे थे.झारखंड बंद का सरायकेला-खरसावां जिला में जबरदस्त असर देखा जा रहा है. सरायकेला, खरसावां, कुचाई समेत विभिन्न इलाकों में दुकाने बंद है. वाहनों का परिचालन भी पूरी तरह से ठप पड़ा हुआ है. जगह-जगह भारी संख्या में पुलिस बलों की तैनाती की गयी है. बंदी के दौरान कहीं से किसी तरह की अप्रिय घटना की खबर नहीं है. जिला के डीसी छबी रंजन, एसपी चन्दन सिन्हा बंदी के मद्देनजर कुछ इलाकों में गस्ती करते नजर आ रहे हैं. दोपहर 12 बजे तक पुलिस ने 476 बंद समर्थकों को हिरासत में लिया है. बंद पूरी तरह से शांतिपूर्ण है.रांची के अल्बर्ट एक्का चौक से कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष अजय कुमार,पूर्व मंत्री सुबोधकांत सहाय, विधायक सुखदेव भगत सहित करीब 300 बंद समर्थकों को गिरफ्तार किया गया है . अभी तक राजधानी से लगभग 700 बंद समर्थक को गिरफ्तार कर कैम्प जेल भेजा गया है .

बंद को देखते हुए पुलिस प्रशासन की ओर से भी उपद्रवियों से निपटने के लिए पुख्ता इंतजाम किये गये. बंद को देखते हुए गुरुवार सुबह से ही शहरी क्षेत्र के अलावे ग्रामीण क्षेत्रों की दुकानें बंद रही. बंद के दौरान बसों का आना जाना ठप रहा. मालवाहक वाहन भी नहीं चले. शहरी क्षेत्र से ग्रामीण क्षेत्र को जाने वाली छोटे वाहनों का आवागमन ठप रहा. बंद को देखते हुए सुरक्षा के दृष्टिकोण से शहरी क्षेत्र के ग्रामीण क्षेत्रों में भी पुलिस बल को तैनात किया गया. शहरी क्षेत्र में सभी चौक-चौराहों पर पुलिस बल को तैनात किया गया एवं गस्ती भी बढ़ा दी गयी. झारखंड बंद का सरकारी कार्यालयों पर भी असर देखा गया. आम दिनों की अपेक्षा आज ग्रामीण क्षेत्र से लोगों का आवागमन बहुत ही कम हुआ. बंद के दौरान किसी भी अप्रिय घटना से निपटने के लिए पुलिस प्रशासन द्वारा कंट्रोल रूम की व्यवस्था की गयी थी. कंट्रोल रूम में बैठ कर उपायुक्त जटाशंकर चौधरी एवं SP संजीव कुमार सहित पुलिस प्रशासन के पदाधिकारी बंद पर नजर बनाए हुए थे.

(THE SUNDAY HEADLINES )ख़बरों से अपडेट रहने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं।आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर & LinkedIn पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं)

THE SUNDAY HEADLINES

Show More
Share On Whatsapp

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Social Media Auto Publish Powered By : XYZScripts.com
Close