Popularओपिनियनताजा खबरदेशन्यूज़बड़ी खबरराज्‍यराशिफललाइफस्टाइल

भाद्रपद का आखिरी रविवार, भूल से भी न करें ये 5 काम

नॉएडा: भाद्रपद माह यानी भादों का आज आखिरी रविवार है. इसके आखिरी तीन रविवार 18 अगस्त, 25 अगस्त और 8 सितंबर को थे. हिंदू धर्म की मान्यताओं के अनुसार भादों के आखिरी रविवार को भगवान विष्णु अपनी योग निद्रा से बाहर आते हैं. इस स्थिति में भक्तों को कुछ खास बातों का अवश्य ध्यान रखना चाहिए.

भादों के आखिरी रविवार सूर्य से बड़ा महत्व है. इस दिन सूर्य की उपासना करने से आपको मनचाहा वरदान मिलता है. अच्छी नौकरी की इच्छा, राजनीति में करियर और संतान का सुख पाने वाले लोग अगर इस भादों में सूर्य की उपासना करें तो उन्हें लाभ मिलेगा. साथ ही जिन लोगों की कुंडली में सूर्य कमजोर होता है, वह सूर्य उपासना कर जीवन में चल रही समस्याओं से निजात पा सकते हैं.

भूल से भी न करें ये काम

भादों के आखिरी रविवार कुछ अन्य परहेज भी करने पड़ते हैं. इन्हें नजरअंदाज करने पर आपको अशुभ संकेतों से गुजरना पड़ सकता है. इसलिए नीचे लिखी बातों को मुख्य रूप से ध्यान रखें.

– भादों के आखिरी रविवार भूल से भी नमक का सेवन न करें

– इस दिन नीले या काले रंग से दूर रहें. भादों के आखिरी रविवार नीले कपड़े पहनना या इस रंग के इर्द-गिर्द रहना आपको नुकसान दे सकता है.

– भादों में रविवार को चावल न खाने सलाह दी जाती है. इसके आखिरी रविवार में आपको इसका ध्यानपूर्वक पालन करना चाहिए.

– भादों के आखिरी रविवा को दिन में नींद लेना भी अशुभ माना जाता है.

– रविवार को हो सके तो तांबे से निर्मित चीजों को खरीदने और बेचने से बचें.

vishnu_Bhadrapada
vishnu_Bhadrapada

इन मंत्रों का करें जाप

-ॐ अच्युताय नम:

-ॐ अनन्ताय, नम:

-ॐ गोविन्दाय नम:

ऐसे करें भगवान विष्णु की पूजा

–  अपने घर की उत्तर पूर्व दिशा ईशान कोण में भगवान विष्णु की प्रतिमा या फोटो स्थापित करें.

– रोली मोली चावल धूप दीप तथा पीले फल फूल से भगवान विष्णु का पूजन करें.

– पीले आसन पर बैठकर गाय के घी का दिया जलाएं और नारायण कवच का 3 बार पाठ करें.

– पाठ करने से पहले पीतल के लोटे में जल भरकर रखें तथा पाठ के बाद यह जल्द सारे घर में छिड़क दें और खुद भी पीएं.

(“द संडे हेडलाइंस” के यहां क्लिक कर सकते हैं आप हमें फ़ेसबुकट्विटरइंस्टाग्राम और यूट्यूब पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं ) 

Tags
Show More
[whatsapp_share]

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Close