ताजा खबरदेशन्यूज़बड़ी खबरस्पोर्ट्स

किसने कैप्टन विराट को दी सलाह, हार के बाद टीम में बदलाव न करें

भारत सीरीज के पहले मैच में 31 रनों से हार गया था

सौरव गांगुली ने कप्तान विराट कोहली को इंग्लैंड के खिलाफ पहले टेस्ट मैच में हार के बाद अंतिम एकादश में बदलाव नहीं करने की सलाह दी है. साथ ही पूर्व भारतीय कप्तान ने मुरली विजय और अजिंक्य रहाणे को अधिक प्रतिबद्धता के साथ बल्लेबाजी करने को कहा.

सलामी बल्लेबाज विजय ने बर्मिंघम टेस्ट में 20 और छह, जबकि मध्यक्रम के बल्लेबाज रहाणे ने 15 और दो रन बनाए. इस तरह से इन दोनों ने केवल 43 रनों का योगदान दिया. गांगुली ने इंस्टाग्राम पर अपनी पोस्ट में लिखा, ‘अगर आपको टेस्ट मैच जीतना है तो फिर प्रत्येक को रन बनाने होंगे.’

उन्होंने कहा, ‘यह पांच मैचों की सीरीज का पहला टेस्ट था और मेरा मानना है कि टीम में वापसी करने और अच्छा प्रदर्शन करने की क्षमता है. अजिंक्य रहाणे और मुरली विजय को अधिक प्रतिबद्धता दिखानी होगी, क्योंकि वे पहले भी ऐसी परिस्थितियों में रन बना चुके हैं.’

गांगुली ने कहा, ‘मुझे नहीं लगता कि हार के लिए कप्तान जिम्मेदार है. अगर आप कप्तान हो, तो हार के लिए आपकी आलोचना होगी जैसे की जीत पर बधाई आपको मिलती है.’

उन्होंने कहा, ‘कोहली की आलोचना इसलिए भी होती रही है कि क्या उन्हें अपने बल्लेबाजों को बाहर करने से पहले पर्याप्त मौके देने चाहिए. इंग्लैंड की परिस्थितियों में स्विंग के सामने नाकामी अब बहाना नहीं हो सकता है क्योंकि हर कोई जानता है कि इंग्लैंड में उन्हें कैसी परिस्थितियों का सामना करना होगा.’

गांगुली ने कहा, ‘यह सच है लेकिन लगातार अंतिम एकादश से छेड़छाड़ और बदलाव करने से खिलाड़ियों के दिमाग में भय समा सकता है कि इतने वर्षों के बाद भी वे टीम प्रबंधन का भरोसा जीतने में नाकाम रहे.’

गांगुली ने इसके साथ ही कहा कि खिलाड़ियों के लिए सभी प्रारूपों में खेलना महत्वपूर्ण है. इस संदर्भ में उन्होंने पिछली भारतीय टीमों का उदाहरण दिया.

उन्होंने कहा, ‘पूर्व की दिग्गज टीमों चाहे वह ऑस्ट्रेलिया हो, दक्षिण अफ्रीका या हमारी टीम, के साथ अच्छी बात यह थी खिलाड़ी दोनों प्रारूपों में खेलते थे. इनमें सचिन तेंदुलकर, राहुल द्रविड़, वीरेंद्र सहवाग के अलावा मैं शामिल था.’

गांगुली ने कहा, ‘इसलिए जब आप एक या दो मैचों में असफल रहते थे, तो आपके पास अंतरराष्ट्रीय स्तर पर वापसी का मौका रहता था. प्रथम श्रेणी मैचों में 150 रन बनाने से आप अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट की भरपाई नहीं कर सकते. इस टीम में विराट को छोड़कर कोई भी अन्य बल्लेबाज सभी प्रारूपों में नहीं खेलता है.’

(THE SUNDAY HEADLINES )ख़बरों से अपडेट रहने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं| आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर & LinkedIn पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं)

THE SUNDAY HEADLINES

Show More
Share On Whatsapp

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Social Media Auto Publish Powered By : XYZScripts.com
Close